इकोनॉमिक सर्वे: अप्रैल तक खत्म होगी कैश की किल्लत, GDP पर नोटबंदी का असर

arun5_1485849023_749x421

राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ संसद का बजट सत्र शुरू हो गया है. अभिभाषण के बाद पिछले साल अर्थव्यवस्था का लेखाजोखा यानी आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया गया है. सर्वेक्षण की रिपोर्ट को आने वाले बजट की झलक के तौर पर देखा जाता है. इस साल नोटबंदी के मद्देनजर सर्वेक्षण को खासा अहम माना जा रहा है. सर्वेक्षण पेश होने के बाद मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन ने कहा कि अर्थव्यवस्था के मेक्रोइकोनॉमिक इंडिकेटर मजबूत हैं. उन्होंने जीएसटी, बैंक करप्सी बिल, आधार बिल, एफडीआई की नीतियों में खुलेपन को बीते साल की सबसे बड़ी आर्थिक उपलब्धियों में गिनवाया.
Read more at The Aaj Tak

Translate »